होम विचार कला-साहित्य मौलाना अबुल कलाम आजादः- एक महान व्यक्तित्व

 

ऐसे थे हमारे कल्लू भईया!

June 23, 2016, 05:07 PM

 

-अजय कुमार श्रीवास्तव 
विराट खण्ड गोमती नगर, लखनऊ

बात 1986 की है मैं उस समय हाईस्कूल का छात्र हुआ करता था। मेरी दोस्ती हुई राजीव मिश्

 

Read More

महिला जगत के लिए पैगाम-ए-गज़़ल

September 1, 2015, 11:49 AM

 

लोक सेतिया 'तनहा':- 'ऐग़मे दिल क्या करूं, ऐ बहशते दिल क्या करूं। Ó ये नज़्म आपने सुनी होगी, कभी नहीं भुला सकते। मगर क्या याद है वो तरक्क

 

Read More